Yes Bank के शेयरहोल्डर्स को लगा एक और बड़ा झटका, Elara Capital ने कहा- 6 रुपए से नीचे जा सकता है यस बैंक का शेयर

Stock Market

यस बैंक काफी समय से आर्थिक संकट का सामना कर रहा है जिसके चलते यस बैंक का शेयर पिछले कुछ दिनों से अस्थिरता की लकीरें दिखा रहा है। इसी बीच यस बैंक के शेयरहोल्डर्स के लिए एक बुरी खबर आ रही है जिसके चलते यस बैंक के शेयरहोल्डर्स को और तगड़ा झटका लग सकता है और इसके शेयर की कीमतों में और गिरावट आ सकती है, यह आशंका देश के नामी ब्रोकरेज फर्म्स ने जताई है।

आपको बता दें कि वित्त वर्ष 2021 की दिसंबर तिमाही में Yes Bank को 150.7 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है और बैंक का NPA घटकर 15.36% हो गया है इसके बावजूद Yes Bank के स्टॉक्स की कीमतें लगातार गिर रही हैं। सोमवार को इसके स्टॉक्स में 3.82% की गिरावट आई थी और आज भी यस बैंक के स्टॉक्स में गिरावट देखने को मिली आज यस बैंक का शेयर 15.75 रुपये पर बंद हुआ हैं। इसी को देखते हुए कई ब्रोकरेज फर्म्स ने Yes Bank के स्टॉक्स को सेल (Sell) रेटिंग्स दी हैं।

कई ब्रोकरेज फर्म्स ने यस बैंक को लेकर अपनी अलग-अलग राय रखी है। Emkay Research नामक ब्रोकरेज फर्म्स ने कहा है कि Yes Bank के स्टॉक्स और गिरेंगे। Emkay Research ने यस बैंक के स्टॉक्स को Sell रेटिंग्स देते हुए इसका टारगेट प्राइस 11 रुपये तय किया है। उनका कहना है कि Q3 में 150.7 करोड़ रुपये का मुनाफा होने का बावजूद बैंक का रिटर्न रेशियो संतोषजनक नहीं है। साथ ही इसका वैल्यूएशन भी अधिक है और इसका रिस्क-रिवॉर्ड भी अनुकूल नहीं है। ब्रोकरेज फर्म ने कहा कि Yes Bank ने फिलहाल नए मैनेजमेंट और RBI की मदद से भले ही बैंक को कुछ हद तक रेस्क्यू किया हो, लेकिन इसे फायदेमंद रिटेल बैंक बनाने के लिए दूसरे तरह के प्राइवेट मैनेजमेंट की जरूरत है।

बता दें, Emkay Research ने अपनी रिपोर्ट में ये भी कहा है कि यस बैंक के NPA में Q3 में सुप्रीम कोर्ट की रोक के कारण कमी आई है। जबकि, बैंक का स्ट्रेस पूल इसके कुल लोन का 11% यानी 18.5 करोड़ रुपये है जो दर्शाता है कि इसका ऐसेट क्वालिटी अभी भी रिस्क में है। इसके साथ ही बैंक ने अपने 4.1% लोन को रिस्ट्रक्चर किया है, जो देश के किसी भी बैंक से अधिक है। इसके अलावा बैंक को अपने स्ट्रेस्ड ऐसेट को मैनेज और ट्रांसफर करने के लिए स्वतंत्र ARC की मंजूरी भी अभी तक नहीं मिल पायी है।

Elara Capital नामक ब्रोकरेज फर्म ने तो यस बैंक के स्टॉक्स के लिए सिर्फ 6 रुपये का टारगेट प्राइस तय किया है। Elara Capital का कहना है कि इसके स्टॉक्स गिरकर 6 रुपये से भी नीचे जा सकते हैं। ब्रोकरेज फर्म ने कहा कि बैंक का नया स्ट्रेस्ड लोन (New Stress Loans) 17% है, जबकि उसका कुल आउटस्टैंडिंग स्ट्रेस लोन 29% से बढ़कर 39% हो गया है। तिमाही आधार पर भले ही बैंक का टैक्स से पहले का प्रॉफिट (PAT) 150 करोड़ रुपये है, लेकिन सालान आधार पर इसमें 101% की गिरावट आई है। बैंक के ऐसेट क्वालिटी में और गिरावट आई है। तिमाही आधार पर बैंक का डिपोजिट 8% बढ़ा है, लेकिन सालाना आधार पर बैंक के डिपोजिट में 12% की गिरावट आई है। इस वजह से Elara Capital ने भी यस बैंक के स्टॉक्स को सेल (Sell) रेटिंग्स दी है।

Spread the love

Leave a Reply